हिन्दी व्याकरण

निपात किसे कहते है ?

स्वातन्त्र अर्थ न देपाना लेकिन वाक्य मे आ कर आग्रह, स्वीकृती, अनुमति, निश्चित, अनिश्चत, धारणा प्रकट करके सहयोग देना, अर्थ मे बल लगाना और अर्थ मे तुलना लाना अव्यय पदको निपात कहते है।

जैसे :- लो, और, के, हाँ, ए, अँ, आ, क्या, भी,अरे,आपका,चाहिये,कहना पड़े इत्यादि।

यीसके अर्थमे विभेद भी ला सकते है जैसे :-

तुम बजार भी जओगे ? ‘बजार’ मे जोड।

तुम भी बजार जओगे ? ‘तुम’ मे जोड।

तुम बजार जओगे भी ? ‘जओगे’ मे जोड।

Leave a Reply

Your email address will not be published.